जामनगर में दिनांक 23 जुलाई 2022 के दिन एक आकर्षक समारोहपूर्ण परेड के दौरान, कमोडोर जे एस धनोआ (Commodore J S Dhanoa) ने भारतीय नौसेना के प्रमुख विद्युतीय प्रशिक्षण संस्थान , भारतीय नौसेना पोत (भा नौ पो) वालसुरा के कमान अधिकारी का पदभार कमोडोर गौतम मारवाहा से प्राप्त किया।

Commodore J S Dhanoa takes charge 
from Commodore Gautam Marwaha
कमोडोर जे एस धनोआ और कमोडोर गौतम मारवाहा

कमोडोर गौतम मारवाहा ने 24 मई 2021 के दिन भा नौ पो वालसुरा की कमान संभाली थी और कार्मिकों के प्रशिक्षण एवं इस प्रमुख स्थापना के प्रशासन में बेहद योगदान दिया था। उनके कार्यकाल के दौरान, दिनांक 25 मार्च 2022 के दिन वालसुरा को राष्ट्रपति के निशान से सम्मानित किया जाना भा नौ पो वालसुरा के इतिहास में एक मौलिक सोपान है।

कमोडोर जे एस धनोआ (Commodore J S Dhanoa) ने 01 जुलाई 1993 के दिन भारतीय नौसेना में कमीशन प्राप्त किया था और अग्रिम पंक्ति के युद्धपोतों पर अपनी सेवाएं दी है जिनमें गंगा, ब्रह्मपुत्र, और तलवार शामिल है।  कमोडोर नेशनल डिफेंस कॉलेज, खड़गवासला और नेवल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, लोनावला के पूर्व छात्र है।

Commodore J S Dhanoa takes charge

उन्हें इंग्लैंड की  क्रेनफील्ड यूनिवर्सिटी द्वारा जल सतह के भीतर ध्वनिकी संचार के क्षेत्र में डॉक्टरेट की उपाधि दी गई है।  उन्होंने डब्ल्यू ई एस ई ई, भारतीय नौसेना अकादमी, तथा नौसेना गोदीबाड़ा (मुंबई) में कई स्टाफ नियुक्तियों पर भी कार्य किया है।  कमोडोर जे एस धनोआ ने जकार्ता, इंडोनेशिया में स्थित भारतीय दूतावास में डिफेंस अटैच के रूप में भी कार्य किया है।  कमोडोर को अनुप्रयुक्त शोध के लिए वी के जैन स्वर्ण पदक भी प्राप्त किया है।